Inner banner

संचालन और रखरखाव

पारेषण  प्रणाली का प्रचालन एवम  अनुरक्षण  

पावर ग्रिड कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड, एक ट्रांसमिशन लाइसेंसधारक, निर्धारित मानकों का अनुपालन सुनिश्चित करने के साथ-साथ ग्राहकों को निरंतर बिजली आपूर्ति के लिए सिस्टम की उच्च उपलब्धता हासिल करने के लिए प्रचालन एवं अनुरक्षण में निरंतर कार्य करता है। पावरग्रिड की प्रचालन एवं  अनुरक्षण गतिविधियां आईएसओ प्रमाणित हैं और सिस्टम और प्रक्रियाओं को तकनीक सम्मत  रखने हेतु उन्हे समय-समय पर संशोधित किया जाता है।

पावरग्रिड द्वारा आवश्यकताएं और प्रक्रियाएं:

  • कंडीशन एसेसमैंट एंड मानिटरिंग तकनीकों का उपयोग अनुरक्षण  के अंतराल में मदद करने के लिए किया जाता है और सिस्टम आउटेज को कम करता है.
  • पावरग्रिड ने दिन-प्रतिदिन अनुरक्षण कार्य के लिए प्रणाली की स्थिति का लाभ उठाने के लिए फ्लेक्सिबल अनुरक्षण प्रणाली विकसित की है और ऊर्जा उत्पादन सन्यंत्रो के रखरखाव कार्यक्रमों के अनुसार अपने वार्षिक रखरखाव कार्यक्रम को भी संशोधित किया है।
  • लाइव लाइन अनुरक्षण जैसी तकनीकों के उपयोग द्वारा,कुछ प्रकार के रखरखाव को, ट्रांसमिशन लाइनों को बिना सेवा से बाहर लिये किया जाता है.
  • आपातकालीन पुनर्स्थापना प्रणाली ("ईआरएस") प्राकृतिक आपदाओं और अन्य आपातकालीन अवसर के मामले में जल्दी बहाली के लिए उपयोग की जाती है.

 

पावरग्रिड ने प्रति वर्ष 99.7% से अधिक की उपलब्धता हासिल कर ली है। पावरग्रिड ने इस उच्च उपलब्धता को सुनिश्चित करने के लिए ट्रांसमिशन लाइनों और उपकेंद्र उपकरणों के लिए लाइव लाइन अनुरक्षण को अपनाया है।

 

प्राकृतिक आपदा के कारण ढह गए टावरों को कम से कम संभव समय में पुनर्स्थापित करने के लिए आपातकालीन पुनर्स्थापन प्रणालियां तैनात की गई हैं । ट्रांसमिशन लाइन के नवींतम तकनीक के द्वारा अनुरक्षण के  लिए हेलीकाप्टरों और  द्रोन का  प्रयोग, इन्सुलेटरों की लाइव लाइन धुलाई, एवं मोबाइल आधारित अनुरक्षण  प्रबंधन प्रणाली का प्रयोग किया गया है। स्पेयर की संख्या एवं स्थानों का चयन जल्दी बहाली और आउटेज को कम करने के लिए रखा जाता है। महत्वपूर्ण उपकरणों की निरंतर स्वास्थ्य निगरानी के लिए ऑन-लाइन स्वास्थ्य मूल्यांकन और मॉनिटरिंग उपकरण प्रयोग किए गए हैं। तेल भरे हुए उपकरणों की कंडीशन मानिटरिंग के लिए देश भर में नौ स्थानों पर पूर्णतह सुसज्जित, मान्यता प्राप्त तेल परीक्षण प्रयोगशालाएं स्थापित की गई हैं।

ट्रांसफार्मर एवं रिएक्टर के हेल्थ एसेसमैंट हेतु एसेट हेल्थ इंडेक्सिंग साफ्टवेयर को आंतरिक प्रयास द्वारा विकसित एवं प्रयोग किया जा रहा है। पावरग्रिड पारेषण लाइन कि निगरानी के लिये  रोबोटिक्स के प्रयोग की तकनीक हासिल करने हेतु प्रयासरत है।